हिंदी छत्तीसगढ़ भारती

बरसात के पानी ले भू-जल संग्रहण Ground water harvesting by taking rain water

धरती के बनावट कुछ अइसे है के ओ म कई परत के चटटान हवय। कुछ पानी सोखने वाला अउ भुरभुरी है अउ कुछ तो अतका ठोस हैं के ओमा पानी पार नई जा सकय जब बरसात होथे तब बहुत अकन पानी ह बोहाके नदिया-नरवा म चल देथे फेर कुछ पानी धरती के भीतरी रिसथे घलो ये ढंग ले रिसने वाला पानी ओ चट्टान म समा जाथे जेन ह पानी साँख लेथे अउ ओकर खाल्हे के ठोस चट्टान के पार नइ जा सकय जमीन के खाल्हे ये ढंग ले जमा होने वाला पानी ह भू-जल आय, जेला हम कुआँ खोद के या नलकूप लगा के पाथन

पाहू कुछ साल म हमर शहर अउ गाँव के अबादी बहुत बढ़गे हवय एकरे सेती पानी के माँग पूरा करे बर भू-जल के उपयोग घलो बढ़गे है। बिजली मिले के कारण शहर अउ गाँव म बहुत जादा नलकूप लगे हैं, जेकर ले भू-जल निकाल के घर उपयोग के सगे-सग खेती-किसानी अउ कल-कारखाना म घलो ओकर उपयोग करे जात है। एकर नतीजा ये होइस के बरसात के जतका पानी जमीन म रिसथे ओकर ले जादा पानी हम उपयोग करे बर बाहिर निकालत हन। ये कारण भू-जल के भंडार सतह ह दिन-दिन खाल्हे होवत जात हे एकर सेती कुआँ अउ नलकूप सुखावत हे, पानी ह खारा होवत हे अउ कई जघा हमर उपयोग के लइक नइ रहिगे है।

जंगल के भारी कटाव अउ गहन खेती के कारण बारामसी नंदिया- नरवा कम होवत जात है, अउ बढ़त अबादी के कारण जघा जघा पानी के कमी देखे जा सकत है। हम अपन शहर अउ बड़े गाँव ल देखन त हम पाबोन के उहाँ सरलग नवाँ-नवाँ घर बनत जात है. सड़क अउ नाली पक्का होवत है, तरिया पटावत हे या सुखावत है मैदान सकलावत है अउ पेड़ पीघा कम होवत जात हैं। ये सबके नतीजा ये हे के शहर अउ बड़े गाँव में बरसने वाला पानी जमीन म कम रिसथे अउ जमीन के सतह उपर बहिके कई तरह के अलहन लाथे खाल्हे डहर म बसे गरीब मन के बस्ती पाना म बुड़ जायें, नाली मन टिपटिप ले भर के सड़क म बोहावन लगर्थे अउ पूरा शहर गंदगी ले भर जाये। एक ढंग ले ये शहर ल मिलइया बरसात के पानी के बरबादी तो आय

फोकटे-फोकट बहने वाला पानी ल कुछ सरल उपाय कर के जमीन के भीतर पहुँचाय जा सकथे। ये ढंग ले सकलाय पानी ले भू-जल के भंडार बढथे, कुआँ अउ नलकूप मेन में पानी के आवक बढ़ जाथे। सुक्खा के दिन म ये पानी ह हमर काम आ सकथे छत अउ छानी-छप्पर म पड़ने वाला बरसात के पानी बोहा के अकारथ चल देथे ये पानी ल सोख्ता गड्ढा बना के सहज रूप म जमीन के भीतर पहुॅचाय जा सकत है। कहुँ तीर-तकार म कुओं हे त ये पानी ल कुआँ म भरे जा सकत है। छोटे छत अउ छप्पर-छानी के पानी ल नलकूप म डारे जा सकथे या फेर बनाय में सोख्ता गड्ढा म डारके जमीन के भीतर पहुँचाय जा सकत हे। मकान के अंगना या तीर-तकार के खुला जमीन ले बोहावत पानी ल घलो सोख्ता गडढा म डारके जमीन के भीतर पहुँचाय जा सकत है। अतका घियान रखे ल परही के चिखला मिल पानी ह सीधा जमीन के भीतर झन जाय। एला रोके खातिर

सोख्ता गड्ढा म छन्ना बनाय के उपाय करे बर परही। ये ल चित्र क्र. 3 म देखाय गे है। छोटे बस्ती म दू-चार घर ल मिला के एक ठन सोख्ता गड्ढा बनाय जा सकत है। सोख्ता गड्ढा ये ढंग ले बनाय जाय के बरसात के पानी छन के खाल्हे उतरय अउ जल सोखइया चट्टान के परत तक पहुँच जाय। ऊपर दे गे चित्र म ये देखाय गे हे के बरसात के पानी ल कोन ढंग ले जमीन के भीतर उतारे जा सकत है।

शहर नगर में कुछ खाल्हे भाग अइसे होथें जिहाँ बरसात होइस के पानी भर जाथे। ये ढंग ले सकलाय पानी ल जमीन के भीतरी कइसे उतारे जाय, एला घलो आगू चित्र म दिखाय गेहे। इही ढंग ले शहर अउ बड़े गाँव म कई टन सुक्खा अउ बेकार तरिया रहिथें, जेन मन बरसात ले भर जाथे। ईकर पानी ल घलो उही ढंग ले जमीन के भीतर पहुँचाय जा सकत है। एकर छोड़ के ये ढंग ले पानी सकलाय ले कुआँ म पानी के आवक बढ़ जाही अउ ओमा साल भर पानी भरे रइही।

कइ ठन शहर गाँव म अइसे छोटे नदिया-नरवा हवय जेमा सिरिफ बरसात के दिन म पानी बोहाथे। अइसे नेंदिया-नरवा के पाट म जमीन के भीतर पानी रोकने वाला बाँध बना के पानी ओकरे पाट भीतरी घलो रोके जा सकत है। एकर ले कुआँ – नलकूप मन म पानी के आवक बढ़ जाही । सुक्खा दिन म अइसे नदिया- नरवा म झिरिया खोद के घलो पानी ले जा सकत है। एकर छोड़ छोटे-छोटे बाँध बना के घलो अइसे नँदिया- नरवा के पानी ल रोके जा सकत है। ये ढंग ले कुछ महीना तक निस्तार बर पानी मिल सकही। एकर ले घलो पानी रिस के धरती के खाल्हे पहुँची अउ कुआँ, नलकूप मन म पानी के आवक बढ़ही। बरसात के पानी ल जमीन के भीतरी डारके मू-जल के भंडार बढ़ाय के ये कुछ उपाय हवय जेला अपनाके कम खरचा म पानी के कमी ल दूर करे जा सकत है।


अभ्यास


पाठ से

1. भू-जल काला कथे ?

उत्तर-

2. भू-जल के उपयोग काबर बाढ़ गेहे ?.

उत्तर-

3. भू-जल के भंडार काबर कम होवत जात है ?

उत्तर-

4. बारामासी नंदिया-नरवा के कम होय के का कारण हे ?

उत्तर-

5. बरसाती पानी के जमीन के भीतर कम रिसे के का का कारण है ?

उत्तर-

6. बरसाती नदिया- नरवा के पानी ल कइसे रोके जा सकत है ?

उत्तर-

Related Articles